Press "Enter" to skip to content

ऐसे चार काम जो पितृ पक्ष में भूल कर भी न करें-

Sandy

ऐसे चार काम जो पितृ पक्ष में भूल कर भी न करें-
धर्मानुसार यह विदित है कि हमारे हिन्दू धर्म में तीन ऋण होते हैं, जो कि देव ऋण, पितृ ऋण, ऋषि ऋण, हैं, इसमें पितृ ऋण प्रमुख माना जाता है, पितृ   ऋण से मुक्ति के लिए पिंडदान किया जाता है पिण्डदान के विशेष फल प्राप्ति के लिए कुछ लोग बौद्ध “गया” भी जाते हैं जो कि बिहार में स्थित है।

  • ये कार्य न करें-
    1. गृह प्रवेश- पितृपक्ष में गृह प्रवेश करना शास्त्रानुसार सही नहीं है।
    2. विवाह-  पितृपक्ष में विवाह आदि या देव प्रतिष्ठा व यज्ञ भी वर्जित है।
    3. दक्षिण दिशा की ओर मुख करके मल मूत्र त्याग आदि भी वर्जित है, क्योंकि दक्षिण दिशा में पितरों का वास रहता रहता है।
    4. नए व्यापार या कोई भी नया कार्य इन दिनों में नहीं किया जाता, यदि ऐसा करते हैं तो धन हानि, गृह कलेश अशांति हो सकती है।

यह भी पढ़ें- सिरदर्द के प्रमुख कारण, दर्द होने पर यह बिल्कुल ना करें, सिर्फ़ इन 5 टिप्स से दर्द होगा छूमंतर

  • यह भी देखें-
    इस वर्ष पितृ पक्ष बुधवार पूर्णिमा 06/09 2017 से शुरू हो रहे हैंं जो कि 20/09/2017 तक चलेंगे इस दौरान पितृ मोक्ष अमावस्या का विशेष महत्व बताया गया है, क्योंकि जिन लोगों को पूर्वजों व पितरों की पुण्यतिथि ज्ञात नहीं है वह लोग भी अमावस्या को श्राद्ध व पिंडदान कर सकते हैं तर्पण और श्राद्ध करने से पूर्वजों का आशीर्वाद प्राप्त होता है व घर में पितृ दोष नहीं लगता एवं सुख शांति बनी रहती है
  • यह भी देखें-
    पितृ पक्ष में यह कार्य करने से लाभ होगा- सर्वप्रथम पितरों की प्रसन्नता के लिए ब्राह्मण भोजन करवाना चाहिए व ब्राह्मणों को उचित दक्षिणा एवं वस्त्र देना चाहिए यदि आस-पास नदी या तालाब हो तो वहां जाकर स्नान कर  तर्पण करना चाहिए तर्पण के लिए डाब बनाएं और चारों दिशाओं में घूमते हुए पितरों को तर्पण करें व मन में ॐ पित्राय नमः का जाप करें।

यह भी पढ़ें- Stomach pain : पेट दर्द में राहत के लिए 5 घरेलू उपाय, जानिये पेट दर्द के मुख्य कारण

अगर आपको हमारा आर्टिकल पसन्द आया तो हमें कमेन्ट करके बताएं और अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें।

Leave Your Comment Here
  1. Rohit Rohit

    बड़े काम की जानकारी है

  2. sonu sonu

    nice ,,I like this topic …ॐ पित्राय नमः…

  3. Sandhya Sandhya

    Very nice

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *