Press "Enter" to skip to content

आरुषि-हेमराज मर्डर: हाई कोर्ट का फैसला, CBI कोर्ट का फैसला बदला

Sandy

उत्तर-प्रदेश में नोएडा के बहुचर्चित आरुषि-हेमराज हत्याकांड मामले में हाईकोर्ट ने निचली अदालत के फैसले को बदल दिया है। हाईकोर्ट ने सबूतों के अभाव में तलवार दंपति को बरी कर दिया है।

fenkmat arushi hemraj

इस मामले में न्यायमूर्ति बी.के.नारायण और न्यायमूर्ति अरविंद कुमार मिश्र की खंडपीठ ने राजेश तलवार और नुपूर तलवार की याचिका में कोर्ट ने जांच एजेंसी की जांच में कई खामिया पाई और इस आधार पर तलवार दंपति को बरी कर दिया।

यह भी पढ़ें- सिर्फ पानी नहीं, औषधि है “गर्म पानी” ये बीमारियाँ हो जाएंगी छूमंतर

इस मामले में आरोपी दंपती डॉ. राजेश तलवार और नुपुर तलवार ने सीबीआई अदालत की ओर से आजीवन कारावास की सजा के खिलाफ इलाहाबाद हाईकोर्ट में अपील दाखिल की थी।

गौरतलब है कि डॉ. तलवार की बेटी आरुषि की हत्या 15 एवं 16 मई 2008 की दरम्यानी रात नोएडा के सेक्टर 25 स्थित घर में ही कर दी गई थी। घर की छत पर उनके घरेलू नौकर हेमराज का शव भी पाया गया था। इस हत्याकांड में नोएडा पुलिस ने 23 मई को डॉ़ राजेश तलवार को बेटी आरुषि और नौकर हेमराज की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया था। इस मामले की जांच एक जून को सीबीआई को सौंप दी गई थी।

सीबीआई की जांच के आधार पर गाजियाबाद की सीबीआई अदालत ने 26 नवंबर, 2013 को हत्या और सबूत मिटाने का दोषी मानते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई थी। इसके बाद से तलवार दंपति जेल में बंद हैं।

यह भी पढ़ें- जानिये ऐंसा गांव जहां के फैशन की हुई दुनिया दीवानी, महिलाएं पहनती हैं बिना ब्लाउज के साड़ी

अगर आपको हमारा आर्टिकल पसन्द आया तो हमें कमेन्ट करके बताएं और अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें।

Leave Your Comment Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *