Press "Enter" to skip to content

चारा घोटाले में लालू प्रसाद यादव हुए आरोपी हो सकती है इतने सालों की जेल-

Sandy

पटना [जेएनएन]। बहुचर्चित चारा घोटाला मामले में फैसला आ गया और लालू दोषी करार दिए गए। अब राजद सुप्रीमो लालू यादव इस बार नया साल कहां मनाएंगे।  इस फैसले की सुनवाई के लिए लालू यादव सीबीआइ कोर्ट पहुंच चुके हैं। लालू के साथ ही जगन्नाथ मिश्र भी कोर्ट पहुंच गए हैं। मिली जानकारी के मुताबिक पता चला है कि जगन्नाथ मिश्रा को इस मामले से रिहा कर दिया गया है। लालू यादव कोर्ट में मौजूद हैं और बाहर कार्यकर्ताओं का हुजूम उमड़ पड़ा है। लोग लालू के फैसले का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।

lalu prasad yadav
Third Party Image

सभी आरोपियों के कोर्ट पहुंचते ही कुछ ही देर में कोर्ट की कार्रवाई शुरू होगी और इस बहुप्रतीक्षित मामले में कोर्ट आज अपना फैसला सुनाएगी। कोर्ट के बाहर काफी संख्या में राजद के नेता और कार्यकर्ताओं की भीड़ लगी है।सीबीआई के जज शिवपाल सिंह का इंतजार किया जा रहा है। इजलास में लालू समेत अन्य आरोपी मौजूद हैं दस मिनट में कोर्ट रूम में जज आ जाएंगे।

सजा हुई तो लालू बिरसा केंद्रीय कारागर जाएंगे

मिली जानकारी के मुताबिक अगर सीबीआइ की विशेष कोर्ट चारा घोटाला मामले में दोषी करार देते हुए लालू यादव को सजा सुनाती है तो उन्हें बिरसा केंद्रीय कारागार में रखा जाएगा। बता दें कि ये वही बिरसा मुंडा सेंट्रल जेल है, जो पशुपालन विभाग की जमीन पर बना हुआ है।

lalu prasad yadav
Third Party Image

पहले फैसले का समय सुबह ग्यारह बजे तय था, लेकिन लालू यादव के वकील चितरंजन प्रसाद ने जानकारी दी कि ग्यारह बजे के बदले अब दोपहर तीन बजे तक फैसला सुनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि फैसले के समय में बदलाव की जानकारी लालू को दी गई जिसके बाद वो कोर्ट में हाजिरी लगाकर वापस गेस्ट हाउस चले गए थे।

लालू ने कोर्ट जाने से पहले कहा-भाजपा को उखाड़ फेंकेंगे

आज सुबह साढ़े दस बजे के बाद जैसे ही लालू यादव रांची स्थित रेलवे के गेस्ट हाउस से कोर्ट के निकले, उन्हें पार्टी कार्यकर्ताओं ने घेर लिया। कोर्ट जाने से पहले लालू ने कहा कि फैसला जो भी आए सभी लोग संयम बरतें, मैं बिहार की जनता का आभारी हूं। उन्होंने कहा कि न्यायालय पर पूरा भरोसा है, फैसला जो भी आए हर आदमी लालू यादव बनकर बीजेपी के खिलाफ खड़ा होगा और भाजपा को जड़ से उखाड़ फेंकेगा।

मेरे बाद तेजस्वी है ना, राजद और होगा मजबूत

लालू ने कहा कि जो भी फैसला आएगा लालू को मंजूर है, मेरे बाद मेरा बेटा तेजस्वी है ना, पूरा देश, पूरी जनता देख रही है कि मुझे और मेरे परिवार को किस तरह भाजपा परेशान करने की कोशिश हो रही है उसमें वो कामयाब नहीं होंगे। एक लालू को जेल भेजेंगे तो एक लाख लालू अब पैदा होगा, लालू ने गरीब जनता की लड़ाई लड़ी है और लड़ता रहेगा।

तेजस्वी ने कहा-मैंने बचपन से देखा है, लालू जी एक विचारधारा का नाम है

लालू के साथ उनके बड़े बेटे तेजस्वी भी कार में बैठकर कोर्ट जा रहे हैं। तेजस्वी ने कहा कि मैंने बचपन से देखा है कि मेरे पिता ने गरीबों के लिए किस कदर लड़ाई लड़ी है? मेरे पिता लालू यादव जी एक नाम नहीं, एक विचारधारा का नाम है।

मेरे पिता हमेशा ही मुसीबतों को झेलते रहे हैं, लेकिन उन्होंने कभी अपना कदम पीछे नहीं हटाया है। मैंने अपने पिता से सीखा है कि किस तरह मुसीबतों से लड़ना है। भाजपा जिस तरह से मेरे पिता और परिवार को तरह-तरह से परेशान किया जा रहा है वो जनता देख रही है।

कौन-कौन आरोपी

लालू प्रसाद, डॉ जगन्नाथ मिश्र, पूर्व सांसद जगदीश शर्मा, पूर्व सांसद आरके राणा, पूर्व मंत्री विद्यासागर निषाद के साथ कई आइएएस एवं अन्य अधिकारी शामिल हैं।

कोर्ट के इस फैसले के बाद ये तय हो गया है कि लालू यादव अब कोर्ट रूम से सीधे जेल भेजे जाएंगे. हालांकि, उनकी सजा पर अभी फैसला नहीं दिया गया है. कोर्ट 3 जनवरी को सजा पर सुनवाई होगी.

news credit- jagran.com

Leave Your Comment Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *