Press "Enter" to skip to content

New York attack-आठ की मौत और 11 जख्मी

Sandy

न्यूयॉर्क के मैनहट्टन में आईएसआईएस से कथित तौर पर प्रभावित एक व्यक्ति ने अपने पिकअप ट्रक को भीड़भाड़ भरे मार्ग पर चढ़ा दिया. इस घटना में कम से कम आठ लोगों की मौत हो गई और 11 अन्य जख्मी हो गए.

(New York attack) इसे 11 सितंबर 2001 की घटना के बाद शहर में पहला इतना भयावह हमला बताया जा रहा है. जिस जगह पर यह घटना हुई वह वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के करीब है. उज्बेकिस्तान के रहने वाले 29 वर्षीय एक व्यक्ति को संदिग्ध माना जा रहा है. गिरफ्तार करने से पहले उसके पेट में गोली मारी गई थी. मीडिया में आई खबरों के मुताबिक उसका नाम सैफुल्लू सेईपोव है जो एक प्रवासी है और वर्ष 2010 में अमेरिका आया था. घटना आमतौर पर बेहद व्यस्त और भीड़भाड़ भरे रहने वाले मैनहट्टन के वेस्ट साइड हाइवे पर हुई. मैनहट्टन न्यूयॉर्क शहर का बेहद घनी आबादी वाला इलाका है.

पुलिस ने बताया कि पैदल चलने वाले लोगों और साइकिल मार्ग पर प्रवेश करने के बाद लोगों को कुचलते हुए संदिग्ध अपना ट्रक दक्षिण की ओर ले गया. साइकिल लेन पर ट्रक की चपेट में आए छह लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि दो की मौत अस्पताल ले जाने के बाद हुई.न्यूयॉर्क पुलिस विभाग (एनवाईपीडी) के मुताबिक, दक्षिण की ओर जाते हुए ट्रक एक स्कूल बस से भी टकराया जिससे दो वयस्क और दो बच्चे घायल हो गए. एक अधिकारी ने बताया कि उसने न्यूजर्सी के होम डिपो से वह ट्रक किराए पर लिया था. हताहतों में बेल्जियम का एक नागरिक और अर्जेंटिना के पांच नागरिक शामिल हैं.न्यूयॉर्क पोस्ट की खबर के मुताबिक वाहन से बाहर आने पर ट्रक चालक ने अल्लाह हो अकबर का नारा लगाया. उसके पास हथियार भी थे.

New York attack

ट्रक में मिला आईएस का पर्चा

खबरों के मुताबिक ट्रक में एक पर्चा मिला है जिसमें आतंकी गुट इस्लामिक स्टेट का जिक्र है. होम डिपो के प्रवक्ता ने इस बात की पुष्टि की है कि लोअर मैनहट्टन में हुई घटना में कंपनी के ही एक ट्रक का इस्तेमाल किया गया था. प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी जांच में अधिकारियों के साथ सहयोग कर रही है . ऑनलाइन रिकॉर्ड बताते हैं कि पीटरसन न्यूजर्सी के रहने वाले संदिग्ध सेईपोव की कई राज्यों के कानून प्रवर्तन अधिकारियों के साथ कई बार बातचीत हुई है. उसे मिसौरी और पेनसिल्वेनिया में यातायात समन भी जारी किए गए थे.

अमेरिका आने वाले यात्रियों की और अधिक गहन जांच के आदेश

न्यूयॉर्क सिटी के मेयर बिल दे ब्लासियो ने कहा कि घटना को आतंकी गतिविधि माना जा रहा है और यह आतंक की कायराना हरकत है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने हमले की निंदा करते हुए कहा हमें आईएसआईएस को वापस आने नहीं देना चाहिए. ट्रंप ने ट्वीट किया, एनवाईसी (न्यूयॉर्क सिटी) में बहुत बीमार और विक्षिप्त लग रहे एक व्यक्ति ने एक और हमला किया. कानून प्रवर्तन एजेंसियां इस पर गहरी नजर रख रही हैं.

उन्होंने एक ट्वीट में कहा, आईएसआईएस को पश्चिम एशिया और अन्यत्र स्थानों पर शिकस्त देने के बाद हमें उन्हें हमारे देश में वापस आने या घुसने की इजाजत नहीं देनी चाहिए. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिका आने वाले यात्रियों की और अधिक गहन जांच के आदेश दिए हैं. उन्होंने कहा, मैंने गृह सुरक्षा विभाग को हमारे गहन जांच कार्यक्रम को और कड़ा करने के आदेश दिए हैं. अमेरिकी न्याय विभाग ने एक वक्तव्य में कहा कि एफबीआई, एनवाईपीडी और अन्य एजेंसियों का संयुक्त आतंक कार्यबल इस हमले की जांच कर रहा है. एक आधिकारिक बयान में बताया गया है कि गृह सुरक्षा मामलों के कार्यवाहक मंत्री एलेन ड्यूक को न्यूयार्क में हुई वारदात से अवगत करा दिया गया है. यह वारदात आतंकवादी कृत्य लगती है.

 

 

Leave Your Comment Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *