Press "Enter" to skip to content

नई घोषणा अब पाठ्यक्रम में शामिल होंगी पद्मावती : शिवराज

Sandy

फिल्म पद्मावती पर राजपूत समाज के विरोध के बाद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी अब उनके पक्ष में आ गए हैं. उन्होंने न सिर्फ अपने क्षेत्र में फिल्म के रिलीज को बैन करने की घोषणा की है, यहां तक कि रानी पद्मावती को राष्ट्रमाता का दर्जा भी दे दिया है. अब इससे आगे बढ़कर वो शिक्षा प्रणाली में भी पद्मावती को प्रमुखता से शामिल करने जा रहे हैं.

poster of padmawati
Third party image

बुधवार को शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा की है कि चित्तौड़ की रानी पद्मावती के पाठ को अगले शैक्षणिक सत्र से पाठ्यक्रम में शामिल किया जाएगा.
उज्जैन में राजपूत समाज  के एक कार्यक्रम में उन्होंने यह घोषणी की. राजपूत समाज के नेताओं ने यह कार्यक्रम मुख्यमंत्री चौहान को फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली की विवादास्पद फिल्म ‘पद्मावती’ की रिलीज को मध्यप्रदेश में प्रतिबंध लगाने के लिए सम्मानित करने के लिए आयोजित किया था.

यह भी पढ़ें- Patwari exam 2017 छः महीने तक टल सकती है परीक्षा
शिवराज ने ये कहा
इस दौरान शिवराज सिंह ने कहा, ‘राजमाता पद्मावती का पूरा जीवन चरित्र, उनके त्याग, तपस्या एवं वीरता को आने वाली पीढ़ियां जान सकें, इसलिए अगले सत्र से पाठ्यक्रम में उनका चरित्र सम्मिलित किया जाएगा, ताकि सही इतिहास आने वाली पीढ़ी और लोग जान सकें.

यह भी पढ़ें-एक जगह ऐंसी, जहां लड़कियां प्यार और शादी के लिए तरस रही हैं

इससे पहले सोमवार को चौहान ने भोपाल में घोषणा की थी कि यदि ऐतिहासिक तथ्यों के साथ खिलवाड़  कर रानी पद्मावती के सम्मान के खिलाफ फिल्म ‘पद्मावती’ में दृश्य रखे गए तो इसे मध्यप्रदेश में रिलीज की परमिशन नहीं दी जाएगी. इसके साथ ही चौहान ने कहा था कि देश के वीरों की स्मृति में भोपाल में प्रस्तावित वीरभूमि प्रकल्प में रानी पद्मावती का भी स्मारक बनाया जाएगा.

Source

Leave Your Comment Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *