Press "Enter" to skip to content

एक रोमांटिक तरीका आपको कई दर्द से छुटकारा दिला सकता है

Fenkmat

हमारा जीवन कई तरह की परेशानियों से घिरा है। ओर साथ ही दिनभर की भागदौड़ से हम एक दम से थका हुआ और परेशान महसूस करते है। ऐसे में हमे जरूरत होती है अपने पार्टनर की। जिससे वो दर्द में भी एक प्यारा सा एहसास महसूस करता है जिससे वो सब भूल जाता है। ओर अपने पार्टनर के साथ सहज महसूस करता है।

दरअसल एक सर्वे में कहा गया है कि जब कोई व्यक्ति दर्द में अपने पार्टनर का हाथ पकड़ता है तो उनके दिमाग की तरंगें आपस में मिलने लगती है जिससे आदमी को दर्द कम महसूस होता है। इस सर्वे के हिसाब से कोई भी व्यक्ति दर्द में अपने पार्टनर की सहानुभूति से आराम महसूस करता है। कहा गया है कि दर्द तेजी से तब कम होगा जब कपल की मानसिक तरंगे आपस में मिलेंगी।

romantic couple
Credit-Pixabay

यह भी देखें- Chaitra Navratri 2018: नवरात्रि में खुलेगी इन राशियों की किस्‍मत, धन लाभ के योग

इस स्टडी के ऑथर यूनिवर्सिटी ऑफ कॉलोरैडो के पॉवेल गोल्डस्टीन हैं। उन्होंने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि आधुनिक समय में हम लोगों ने संचार के बहुत सारे माध्यमों का विकास कर लिया है और हमारे बीच शारीरिक संवाद बहुत सीमित हो गए है। इस स्टडी द्वारा ह्यूमन टच की शक्ति और उसके महत्व पर प्रकाश डाला गया है।

romantic couple
Credit-Pixabay

ये स्टडी प्रॉसीडिंग्स ऑफ नैशनल अकेडमी ऑफ साइंस (पीएनएएस) के जर्नल में पब्लिश की गई। बता दें कि इस स्टडी के लिए शोधकर्ताओं ने 23 से 32 साल के ऐसे कपल्स का चुनाव किया जो कम से कम 1 साल से अधिक समय से साथ रह रहे थे। इसके बाद उन्हें कई परिस्थितियों से गुजारा, इस दौरान इलेक्ट्रो एन्सेफलोग्रफी (ईईजी) के जरिए उनकी मानसिक तरंगों की ऐक्टिविटी को नोट कर रहा था।

यह भी देखें- GATE Result 2018: IIT गुवाहाटी ने निकाला रिजल्ट, ऐसे चेक करें अपना स्कोरकार्ड

इन परिस्थितियों में बिना हाथ पकड़े कपल्स को साथ बैठाना, एक-दूसरे का हाथ पकड़कर साथ बैठाना, अलग-अलग कमरों में बैठाना शामिल था। कपल के साथ में रहेने पर उनकी मानसिक तरंगें मिल रही थीं। ये तरंगे अल्फा एमयू बैंड पर मिल रही थीं जो ध्यान लगाने से संबंधित वेवलेंथ है। जब महिला दर्द महसूस कर रही थी तो पुरुष का हाथ थामने पर मानसिक तरंगों का मिलना दोगुना हो गया। इसके अलावा स्टडी में यह भी पाया गया कि जब महिला दर्द में थी, लेकिन पुरुष साथी ने उनका हाथ नहीं थामा तो मानसिक तरंगों का मिलना समाप्त हो गया।

ओर वो उसी परिस्थिति में रही जिसमे वो पहले से थी

अगर आपको हमारा आर्टिकल पसन्द आया तो हमें कमेन्ट करके बताएं और अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें।

Leave Your Comment Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *