Press "Enter" to skip to content

सिर्फ एक बच्ची के लिए रोजाना आती है इस स्टेशन पर ट्रेन, वजह…….

Sandy

JAPAN : जिनके बच्चे सुबह-सुबह स्कूल जाते हैं, उन्हें इसका मतलब पता होगा. अगर आपका घर आउटर एरिया में है या फिर किसी ऐसी जगह पर है जहां से आने जाने के साधन में थोड़ी परेशानी है तो बच्चों को स्कूल जाने में सबसे ज्यादा दिक्कत होती है. स्कूल के बस वाले एक दो बच्चों के लिए रास्ता नहीं बदलते, और बस के पीछे लिखवाते हैं पढ़ेगा भारत तभी तो बढ़ेगा भारत. स्थिति ऐसी है कि बच्चों के एडमिशन के साथ साथ इंसान उसी इलाके के आस-पास घर भी देखता है, ताकि समस्या न हो.

यह भी पढ़ें- इस मामले में आज भी हैं दीपिका पादुकोण, प्रियंका चोपड़ा से बहुत आगे, यकीन नहीं तो…

JAPAN की सरकार का अप्रोच, हमारी बतोली सरकारों की अपेक्षा थोड़ा अलग है, वहां नारा नहीं दिया जाता है कि ‘पढ़ेगा जापान तभी तो बढ़ेगा जापान… वगैरह वगैरह”. वहां ऐसे कामों को सीरियसली लिया जाता है. JAPAN के उत्तर के होकाइदो द्वीप पर सिर्फ एक बच्ची को लेने के पूरी की पूरी ट्रेन आती है.

japan school girl
Third party image

दरअसल कुछ समय पहले वहां की सरकार के रेलवे विभाग ने तय किया कि शिराताकी गांव के स्टेशन को बंद किया जाएगा. क्योंकि वहां से ज्यादा सवारियां नहीं मिलती हैं. लेकिन तभी पता चला कि एक बच्ची से रोजाना स्कूल आती जाती है. अधिकारियों ने पड़ताल की तो पता चला कि वहां से आने जाने का और कोई महफूज साधन नहीं है। ऐसे में सरकार ने तय किया कि स्टेशन को चालू रखा जाए. अब रोजाना दिन में दो बार ट्रेन आती जाती है. एक बार बच्ची को स्कूल के लिए लेने और दूसरी बार, बच्ची को वहां छोड़ने.

यह भी पढ़ें- Ban के बावजूद एक ही दिन में इतना कमा ले गई Padmavat तोड़े सारे रिकॉर्ड

और तो और ट्रेन के टाइम को बच्ची के स्कूल के समय के हिसाब से एडजस्ट कर लिया गया है. पूरी ट्रेन में बच्ची के अलावा कोई दूसरी सवारी नहीं होती. रेलवे विभाग ने तय किया है कि जब तक बच्ची हाईस्कूल पास नहीं करती ट्रेन चलती रहेगी.  सच में दिल करता है कि JAPAN की सरकार और उसके रेलवे विभाग की पीठ इस काम के लिए थपथपाई जाए. आपको भी लगता है तो शेयर जरूर करें.

अगर आपको हमारा आर्टिकल पसन्द आया तो हमें कमेन्ट करके बताएं और अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें।

BY- Archna

Source

Leave Your Comment Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *